जिला उपभोक्ता फोरम ने खराब मोबाइल ठीक करके न देने पर उसकी कीमत दस हजार एक सौ रुपये छह प्रतिशत वार्षिक ब्याज की दर से और वाद खर्च के रूप में दो हजार रुपये शिकायतकर्ता को अदा करने के आदेश दिए हैं। अधिवक्ता संजय चौहान और चन्द्रदीप ने बताया कि शिकायतकर्ता सुनील कुमार पुत्र गंगाराम निवासी सराय रोड ज्वालालपुर ने निर्माता लेनोवो इंडिया प्राइवेट लिमिटेड बेंगलूरु अधिकृत प्रबन्धक क्लासिक कॉम्प्यूटर्स रॉयल प्लाजा कॉम्प्लेक्स चंद्राचार्य चौक और डीलर महाकाली इंटरप्राइजेज सूर्या कॉम्प्लेक्स रानीपुर मोड़ के खिलाफ एक शिकायत दर्ज कराई थी। शिकायतकर्ता ने लेनोवो कम्पनी का निर्मित एक मोबाइल कीमत दस हजार एक सौ रुपए में स्थानीय डीलर से खरीदा था। स्थानीय डीलर ने मोबाइल फोन की एक वर्ष की वारंटी दी थी। उक्त मोबाइल खरीदने के कुछ दिन के बाद ही उसमें खराबी आने की समस्या उत्पन्न हो गई थी। डीलर के कहने पर सर्विस सेंटर को दिखाया था। जिस पर सर्विस सेंटर ने स्पीकर बदलकर दे दिया था। लेकिन थोड़े दिन बाद फिर खराब हो गया था। जिसपर स्थानीय सर्विस सेंटर ने देहरादून दिखाने की बात कही थी। इसके बाद देहरादून सर्विस सेंटर ने भी स्पीकर बदलकर दिया था। लेकिन इसके बावजूद मोबाइल की स्क्रीन गायब और स्विच ठीक तरह से काम नहीं कर रहे थे। यही नहीं, उक्त मोबाइल का आईएमईआई नम्बर बदला था। लेकिन इसके बाद भी सही तरीके से ठीक नहीं हुआ था। दोनों सर्विस सेंटर ने ठीक करने से मना कर दिया था। अभी तक आईएमईआई नम्बर भी अपडेट नहीं हुआ, जिससे शिकायतकर्ता को परेशानी हुई। शिकायतकर्ता को कभी रुड़की तो कभी देहरादून जाने की बात कही गई। इसके बाद शिकायतकर्ता के मौखिक अनुरोध पर भी कंपनी, स्थानीय डीलर व सर्विस सेंटर ने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया था। नोटिस भेजने के बावजूद कोई संतोषजनक कार्रवाई नहीं की थी। शिकायतकर्ता ने थक हारकर फोरम की शरण ली थी। फोरम अध्यक्ष कंवर सैन, सदस्य अंजना चड्ढा व विपिन कुमार ने मोबाइल कम्पनी के निर्माता, स्थानीय डीलर और सर्विस सेंटर को उपभोक्ता सेवा में कमी करने का दोषी ठहराया है।

Write A Comment